बिहार

कांके अस्पताल में इलाज कराने गए बिहार के मरीजों का खर्च नहीं उठाएगी नीतीश सरकार

* बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने रिनपास निदेशक को इस संबंध में पत्र भेजा
* एक मरीज पर राज्य सरकार कोे हर दिन देने पड़ते थे 900 रुपए

रांची/संवाददाता

झारखंड के कांके स्थित रांची तंत्रिका मनोचिकित्सा एवं संबद्ध विज्ञान संस्थान (रिनपास) में अब बिहार के मरीजों का दाखिला वहां की सरकार के खर्च पर नहीं हो सकेगा। बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने रिनपास निदेशक को इस संबंध में 28 अगस्त को पत्र भेजा है।

इसमें विभाग की पूर्वानुमति के बिना किसी भी मरीज का इलाज नहीं करने को कहा गया है जिसकी चिकित्सा खर्च का भुगतान बिहार को करना पड़े। सरकार के अपर सचिव डाॅ. राजीव कुमार ने पत्र में लिखा है कि भाेजपुर के कोईलवर में 180 बेड की क्षमता वाली मानसिक आरोग्यशाला है। अबतक बिहार सरकार को एक मरीज के लिए राेज 900 रुपए रिनपास को देना पड़ता था।

सरकार पर रिनपास का 74 करोड़ हो चुका है बकाया
विगत पांच-छह वर्षों में बिहार सरकार पर रिनपास प्रशासन का 74 करोड़ बकाया हो चुका है। बिहार सरकार बकाए का भुगतान नहीं कर रही है। इसको लेकर रिनपास प्रशासन ने झारखंड सरकार व राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के माध्यम से भी भुगतान के लिए बिहार सरकार पर दबाव बनाया था। डाॅ. राजीव ने बिल की जांच के बाद भुगतान की बात कही है। अभी भी रिनपास में एडमिट लगभग 40 से 50 फीसदी मरीज बिहार से हैं। इस निर्णय के बाद बिहार के मरीज अब शुल्क देकर ही एडमिशन करा सकेंगे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *