युवा शिक्षा

आदिवासी स्कूलों को अंग्रेजी मीडियम में बदलेगी महाराष्ट्र सरकार

मुंबई/एजेंसी

महाराष्ट्र में आदिवासी बच्चों से जुड़े सरकारी आश्रम स्कूलों को अंग्रेजी मीडियम के स्कूल में बदला जाएगा। जनजातीय विकास मंत्री अशोक उइके ने शुक्रवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के ग्रामीण क्षेत्रों के आदिवासी छात्रों के लिए बेहतर शैक्षणिक अवसर सुनिश्चित करने के लिए आश्रम शालाओं (स्कूलों) को अंग्रेजी मीडियम के स्कूलों में बदलने का काम चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा।

अशोक उइके ने कहा कि पहले चरण में 50 ऐसे सरकारी आश्रम शालाओं को अंग्रेजी मीडियम के स्कूल के रूप में बदला जाएगा और कक्षा पहली में प्रवेश दिया जाएगा। उइके ने कहा कि अकादमिक सत्र 2019-20 के दौरान कक्षा छठी से भी दाखिला दिया जाएगा। उइके ने कहा कि सरकार ने इस उद्देश्य के लिए प्रतिष्ठित निजी स्कूलों के योग्य शिक्षकों की सेवा लेने का निर्णय लिया है।

आदिवासी विकास विभाग 502 आश्रम शालाएं चलाता है जहां आदिवासी बच्चे महाराष्ट्र राज्य शिक्षा बोर्ड के निर्धारित पाठ्यक्रम के अनुसार मराठी माध्यम में शिक्षा हासिल करते हैं। मंत्री ने कहा कि कक्षा छठी से गणित एवं विज्ञान जैसे विषय मराठी एवं अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में पढ़ाये जाएंगे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *