घर-परिवार महिला

जमकर बहस करें लेकिन झगड़ा करने से बचें

* अमेरिका के टेनेसी विश्वविद्यालय ने किया शोध, 30-40 साल की उम्र वाले जोड़ों के बीच ईर्ष्या, धर्म और परिवार झगड़े के मुख्य मुद्दे

नयी दिल्ली/एजेंसी

वैज्ञानिकों ने खुशहाल शादीशुदा जिंदगी का फॉर्मूला बताया है। उनका कहना है जो कपल छोटी-छोटी बातों पर लड़ने की जगह शांति से बैठकर बातचीत से हल निकालते है वे खुशहाल जीवन बिताते हैं। यह रिसर्च अमेरिका के टेनेसी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने की है। शोधकर्ताओं का कहना है कि सम्बंध उलझ रहे हैं तो बात करें, बहस करें लेकिन झगड़ा न करें तभी समाधान संभव है।

दो समूहों में हुआ शोध
फैमिली प्रोसेस जर्नल के मुताबिक, यह शोध दो उम्र वर्ग के जोड़ों पर किया गया। पहले ग्रुप में ऐसे 57 कपल थे, इनकी उम्र 30-40 साल थी और शादी के 9 साल बीत चुके थे। वहीं 64 जोड़े ऐसे थे जिनकी उम्र 70 साल के आस-पास थी शादी को औसतन 42 साल हो चुके थे। 70 साल से अधिक उम्र वाले जोड़ों में अंतरंगता, फुर्सत के पल, घरेलू समस्याएं, हेल्थ, कम्युनिकेशन और पैसे से जुड़े मुद्दों पर बहस होती थी। वहीं 30-40 साल की उम्र वाले जोड़ों के बीच ईर्ष्या, धर्म और परिवार झगड़े के मुख्य मुद्दे थे।

शोधकर्ताओं ने जाना कि जब ये जोड़े अपनी समस्या का हल कैसे ढूंढते हैं। उन्होंने पाया जो जोड़े मुद्दों पर बहस के दौरान झगड़ा करने से बचते हैं वे समाधान जल्दी ढूंढ लेते हैं। जैसे वे घरेलू कामकाज का बंटवारा करते हैं और एक-दूसरे के साथ रहने के लिए समय कैसे निकालता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, जोड़ों का यह व्यवहार ही उनकी खुशहाल जिंदगी की वजह है। शोध में कहा गया है कि परेशानी पर ज्यादा जोर देने से मुद्दे को सुलझाना मुश्किल हो जाता है और कपल्स के बीच विश्वास भी घटता है।

शोध में सामने आया कि जो लंबे वक्त से शादीशुदा थे उनके जीवन में बेहद कम ऐसे मुद्दे थे जिनकी वजह उनके बीच झगड़ा हुआ हो। जो कपल्स जल्द और आसानी से हल होने वाले मुद्दों चर्चा से दूर रखते हैं वे भी लंबा और खुशहाल जीवन बिताते हैं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *