खबरें देश

बाढ़ जैसे हालात, बिहार और पूर्वी उप्र में 4 दिन में 86 मौतें

* बिहार के 22 जिलों में बाढ़ का खतरा, राजधानी पटना में 5 मंत्रियों के आवास में पानी भरा
* पटना में शनिवार को बारिश का 10 साल का रिकॉर्ड टूटा, शहर का 80% क्षेत्र पानी में
* पटना में एनडीआरएफ के 60 और एसडीआरएफ के 20 जवान राहत कार्य में जुटे

पटना/लखनऊ/एजेंसी

बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में बीते चार दिन से हो रही बारिश के कारण हालात बिगड़ गए हैं। रविवार को राजधानी पटना, भागलपुर समेत बिहार के कई इलाकों में भारी बारिश हुई। इसके कारण 17 लोगों की जान चली गई। गुरुवार से अब तक पूर्वी उप्र में 63 और बिहार में 24 लोगों की मौत हो चुकी है। बिहार के 22 जिलों में बाढ़ का खतरा है। मौसम विभाग के मुताबिक, क्षेत्र में अगले दो दिन बारिश के राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को सभी जिलों के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर बारिश और बाढ़ के हालात का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि सरकार मुश्किल हालात से निपटने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। ऐसी परिस्थितियां प्राकृतिक हैं, जो किसी के साथ में नहीं होती हैं। प्रभावित लोगों की पूरी मदद की जा रही है। सरकार ने अधिकारियों को 15 अक्टूबर तक हाई अलर्ट पर रहने का आदेश दिया है।
प्रशासन ने पटना में 30 सितंबर और 1 अक्टूबर को सभी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं। पूर्वी रेलवे जोन के मुताबिक, पटना और दानापुर स्टेशन के पास ट्रैक डूबने से 30 ट्रेन रद्द की गईं, कुछ की दूरी कम कर दी गई।

पटना में 3 दिन में 20 सेंटीमीटर बारिश हुई
पटना में शनिवार को बारिश का पिछले 10 साल का रिकॉर्ड टूट गया। पटना में शनिवार को 177 मिलीमीटर बारिश हुई। इससे पहले 3 सितंबर 2013 को 24 घंटे के दौरान 158 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। इस महीने में शनिवार तक 429 मिमी बारिश हो चुकी है। इससे पहले सितंबर, 2016 में 399.4 मिमी बारिश हुई थी। मौसम विभाग के मुताबिक, शुक्रवार सुबह से रविवार तक पटना में 200 मिमी बारिश हुई।

5 मंत्रियों के बंगले में पानी भरा
राजधानी पटना के कई इलाकों में जलभराव के कारण जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ। पावर सब स्टेशनों में पानी भरने से बिजली आपूर्ति ठप हो गई। राज्य के पांच मंत्री नंद किशोर यादव (सड़क निर्माण मंत्री), कृष्ण नंदन वर्मा (शिक्षा मंत्री), सुरेश शर्मा (नगर विकास मंत्री‌), संतोष निराला (परिवहन मंत्री) और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के आवास में भी पानी भर गया।

इतनी बारिश क्यों हो रही है?
मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण उत्तर प्रदेश और इससे सटे उत्तरी मध्य प्रदेश के ऊपर साइक्लोनिक सर्कुलेशन और बंगाल की खाड़ी से झारखंड और गंगीय इलाके में कम दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से पूरे बिहार में कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश हो रही है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि यह सिस्टम 30 सितंबर तक रहेगा।

पंजाब-हरियाणा समेत कई राज्यों में बारिश
रविवार को हरियाणा, पंजाब में भी बारिश हुई। इस दौरान पंचकूला, अंबाला और यमुनानगर के कई इलाकों में पानी भर गया। मौसम विभाग ने दोनों राज्यों में अगले दो दिन बारिश का अनुमान जताया है। उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में भी भारी बारिश हो रही है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *