खबरें देश

एक को छोड़ सब पड़ोसी अच्छे : जयशंकर

हाइलाइट्स
* पाकिस्तान पर हमलावर अंदाज में विदेश मंत्री बोले, ‘एक को छोड़ सभी पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध’
* विदेश मंत्री ने कहा, पड़ोसियों के साथ क्षेत्रीय सहयोग के लिहाज से भारत के संबंध काफी अच्छे रहे हैं
* अमेरिका दौरे को लेकर विदेश मंत्री ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर लोगों से विस्तार से चर्चा का मौका मिला
* जयशंकर ने कहा कि लोगों में आर्टिकल 370 को लेकर काफी भ्रांतियां थीं, बहुत से प्रावधानों की जानकारी नहीं

नई दिल्ली/एजेंसी

पड़ोसी देशों के साथ भारत के संबंधों पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना ही निशाना साधा। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत के सभी पड़ोसी देश ‘एक को छोड़कर’ क्षेत्रीय सहयोग के लिहाज से अच्छे रहे हैं। इंडिया इकनॉमिक समिट के दौरान बोलते हुए जयशंकर ने पाकिस्तान और पड़ोसी मुल्कों के साथ संबंधों को लेकर यह टिप्पणी की।

आर्टिकल 370 पर अमेरिका दौरे पर विदेश मंत्री ने की थी चर्चा
विदेश मंत्री के हालिया अमेरिका दौरे के दौरान भी आर्टिकल 370 समाप्त किए जाने के फैसले का जिक्र किया गया था। वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम के प्रेजिडेंट बॉर्ज ब्रेंडे के साथ बातचीत में आर्टिकल 370 पर जवाब देते हुए कहा, ‘अगर यथास्थिति में बदलाव होता है तो बहुत से लोगों के मन में सवाल उठते हैं। यह एक सामान्य प्रक्रिया है।’ विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि अमेरिका दौरे के दौरान उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर विस्तृत चर्चा की।

‘कश्मीर के इतिहास, फैसले से जुड़े पक्षों पर बात की’
आर्टिकल 370 पर केंद्र सरकार के फैसले पर भारत का पक्ष समझाते हुए विदेश मंत्री ने अमेरिका में कई कार्यक्रमों में चर्चा की। उन्होंने कहा, ‘मैंने अमेरिका दौरे पर इस (कश्मीर) मुद्दे को लेकर विस्तृत चर्चा की। हमने कश्मीर के बैकग्राउंड, इतिहास, यह फैसला क्यों किया और क्या किया पर बात की।’ एस. जयशंकर ने यह भी कहा कि कश्मीर को लेकर जिन लोगों से उन्होंने चर्चा की, उन्हें बहुत से नए पक्षों की जानकारी मिली।

विदेश मंत्री ने आर्टिकल 370 पर कई भ्रांतियों को किया दूर
अमेरिका दौरे पर कश्मीर को लेकर की चर्चा पर उन्होंने कहा कि लोगों को कश्मीर और आर्टिकल 370 के बारे में बहुत कुछ नहीं पता था। उन्होंने कहा, ‘जिन भी लोगों से इस मुद्दे पर मैंने चर्चा की, उनमें से बहुत ही कम ऐसे लोग थे जिन्हें (आर्टिकल 370) के अस्थायी प्रावधान होने के बारे में जानकारी थी। देश के बहुत से कानून जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 होने के कारण लागू नहीं हो सकते थे, ऐसे कई नए तथ्यों के बारे में लोगों को जानकारी मिली।’



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *