अंबिकापुर ट्रेन से कटकर पति-पत्नी की मौत, शराब पीकर दोनों बैठे थे पटरी पर

जयनगर । सूरजपुर । वर्तमान भारत ।

इरफान सिद्दीकी

“बोलते है ना मुशीबत बता कर नहीं आती” ठीक इसी तरह से एक दिल दहला देनी वाली हादशा की खबर आ रही है, नशे में धुत होने के कारण दोनों को यह होश तक नहीं रहा कि सामने से ट्रेन आ रही है, बातचीत के दौरान ही अचानक दोनों ट्रेन की चपेट में आ गए और पत्नी की मौके पर ही हो गई थी मौत, दर्दनाक हादसे से पूरे गांव में सन्नाटा छाया हुआ है ।-पति-पत्नी ने जम कर के शराब का सेवन किया और दोनों बातचीत करते हुए शुक्रवार को गांव के बगल से गुजरे रेलवे पटरी पर जाकर बैठ गए। नशे में धुत होने के कारण दोनों को इतना भी होश नहीं रहा कि उसी समय ट्रेन आ रही है। दोनों पटरी पर बैठे ही थे कि शहडोल से अंबिकापुर आ रही ट्रेन की चपेट में आ गए। ट्रेन से कट जाने से पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि पति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शनिवार को इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। माता-पिता की मौत से उनके 2 मासूम बच्चे के सर से माता पिता की साया भी उठ गया दोनों बच्चें अब अनाथ हो गए।

सूरजपुर जिले के जयनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत महावीरपुर में बायपास रेलवे लाइन के पास शुक्रवार की शाम 35 वर्षीय छेरतू राम राठिया व उसकी पत्नी पुनु बाई पटरी के समीप बैठ कर अपनी सुख दुख की बाते कर रहे थे इन्हें थोड़ा भी अंदेशा नही था कि कुछ देर बाद ऐसा कुछ हो जाएगा कि पूरा परिवार पर पहाड़ टूट पड़ेगा, पटरी के पास दोनो बैठे हुए थे। जयनगर के तरफ से ट्रेन आरही थी तभी शहडोल-अंबिकापुर ट्रेन की चपेट में आ गए। घटना में महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि पति छेरतू गंभीर रूप से घायल हो गया था।

युवक को उपचार हेतु मेडिकल कालेज अस्पताल अंबिकापुर में भर्ती कराया गया था, जहां शनिवार की सुबह उसकी मौत हो गई। मृतका पुनु बाई महावीरपुर निवासी थी। वहीं पति छेरतू राम राठिया धरमजयगढ़ निवासी था, जो यहां पर घर जमाई रहकर मजदूरी कर जीवनयापन करता था।

मासूम बच्चों के सिर से उठा माता-पिता का साया

पति-पत्नी की टे्रन से कटकर हुई मौत से उनके 2 मासूम बच्चों के सिर से माता-पिता का साया उठ गया है। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी काफी ज्यादा शराब का सेवन कर पटरी पर बैठे थे।