जशपुर समाचार : पाठ स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों का तबादला… जिस कारण स्कूलों में अब शिक्षक नहीं…पढ़ें पूरी खबर

जशपुर । वर्तमान भारत ।

गजाधर पैकरा

जशपुर (छत्तीसगढ़) वर्तमान भारत। प्रदेश के जशपुर जिले में अंधाधुध ट्रांसफर की वजह से कई स्कूलों का सिस्टम बिगड़ गया है। हाल ही में जारी किया गया शिक्षकों की ट्रांसफर सूची से नई समस्या खड़ी हो गई है। कई स्कूल मात्र एक शिक्षक, शुन्य शिक्षक या 2 शिक्षकों के भरोसे ही रह गया है।

बगीचा विकासखंड का पाठ इलाका पहले से स्वास्थ्य ,शिक्षा और अन्य मूलभूत सुविधाओं के मामले में बेहद पिछड़ा हुआ है ।इस बार जिले भर से शिक्षकों के तबादले पर विवादित बयान हो रहा है ।पाठ इलाके के स्कूलों में कार्यरत 28 शिक्षकों को इधर से उधर तबादला कर दिया गया है ।बदले में उस स्कूल में शिक्षक ही नहीं दिया गया है। कुछ स्कूल अब भी बिना शिक्षकों के हो गया है ।उदाहरण के तौर पर कवई पंचायत का अमटपाली प्राथमिक शाला है।

स्कूल में 25 बच्चे बच्चियां पहाड़ी कोरवा है ।पहाड़ी कोरवा समाज से शिक्षक नेहरू मांझी कार्यरत थे ।मांझी का मनोरा ट्रांसफर के बाद स्कूल बिना शिक्षक का हो गया है ।पाठ क्षेत्र में शिक्षकों की दर्ज संख्या पहले से ही पर्याप्त नहीं था ।अब तबादला से एक या 2 शिक्षकों के भरोसे ही स्कूल चलेगा ।कामारिया में 115 बच्चों के लिए 3 शिक्षक कार्यरत थे ।एक का तबादला होने से 2 शिक्षकों के भरोसे 115 अध्ययन करेंगे ।जशपुर का पाठ इलाका 25 से 30 ग्राम पंचायतों का समूह है।जिले के पहाड़ी और पठारी क्षेत्रों का इलाका शामिल है ।पहले से ही शिक्षकों की कमी पर लोग नाराजगी जता रहे थे।

अब ट्रांसफर के आदेश के बाद लोगों में नाराजगी और व्याप्त हो गई है ।पाठ क्षेत्र के हर्राडीपा, सारूढाब,पटकोना, डूमरपानीपाठ, सुलेसा ,पंडरापाठ ,करमघाट ,महनगई,केरापाठ ,लेदरापाठ, एकंबा ,जूनापारा, हेटसेमरा ,सेंधवार, बुर्जूडीह, कोदोपारा, लरंगा ,मरंगीपाठ, डोभ, गजईटोली ,पकरानबथान ,तेंद पाठ, सोनमुठ, अटमपानी ,कामारीया, छिछली जैसे दूरस्थ क्षेत्रों की स्कूल में बिना शिक्षक भेजें ,पहले से पदस्थ शिक्षकों का ट्रांसफर कर दिया गया। जिला शिक्षा अधिकारी जे के प्रसाद ने बताया कि गलतियों को कल सुधार लिया गया है। और स्कूलों में शिक्षक की व्यवस्था कर दी गई है ।शिक्षकों का ट्रांसफर आदेश एक और वजह से चर्चा में बना हुआ है ।कुल 137 शिक्षकों में से ज्यादातर का तबादला खुद के खर्चे पर हुआ है।