Chhattisgarh News:- समग्र शिक्षा के प्रबंध संचालक से प्रांतीय सी.ए.सी. प्रतिनिधिमंडल ने की मुलाक़ात…मांगों पर हुई विशेष चर्चा कुछ मांगों पर बनी सहमति….

वर्तमान भारत

रायपुर :- विगत दिनों 2 नवंबर को स्कूल शिक्षा विभाग मे अकादमिक एवं शिक्षा गुणवत्ता तथा शैक्षिक नवाचार में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले प्रदेश में लगभग 55 सौ से अधिक संकुल शैक्षिक समन्वयकों का प्रतिनिधित्व करने वाले जिला अध्यक्षों एवं प्रदेश पदाधिकारियों का आवश्यक प्रांतीय बैठक राजधानी रायपुर के शंकर नगर प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर प्रांगण में आयोजित किया गया, बैठक मे प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए हुए जिलाध्यक्ष एवं प्रांतीय पदाधिकारियों द्वारा संकुल शैक्षिक समन्वयकों के द्वारा किए जा रहे अकादमिक एवं शैक्षिक गतिविधियों में समय-समय पर आने वाले विभागीय समस्याओं पर मंथन चिंतन किया गया। जिला अध्यक्षों द्वारा समस्याओं को बिंदुवार बताया गया कि जिले स्तर पर सम्बंधित अधिकारियों की उदासीनता के कारण संकुल एवं स्कूल ग्रांट की राशि नियत समय पर जारी नहीं होने की स्थिति में शैक्षणिक एवं अन्य कार्यों में राशि का उपयोग नही किया जा पाना एवं लेप्स हो जाना।
cac द्वारा की गई मॉनिटरिंग का यात्रा देयक भुगतान में असुविधा, ग्रीष्मावकाश में की गई अकादमिक एवं अन्य कार्यों का सेवा पुस्तिका में अर्जित अवकाश इंद्राज कराने में असुविधा, निजी फोन का सरकारी करण किया जाना, एवं ऐसे ही अनेक समस्याओं की निराकरण पर विचार विमर्श किया जा कर मध्यान्ह पश्चात प्रांतीय सीएसी प्रतिनिधि मंडल द्वारा राज्य प्रयोजना समग्र शिक्षा के प्रबंध संचालक वरिष्ठ आईएएस नरेंद्र दुग्गा साहब से प्रदेश में कार्यरत 55 सौ से अधिक संकुल शैक्षिक समन्वयकों की समस्याओं से संबंधित मांग पत्र ज्ञापन सौंपा गया साथ ही समस्याओं पर बिंदुवार लंबी चर्चा की गई।
प्रबंध संचालक द्वारा प्रतिनिधिमंडल को समस्याओं के निराकरण हेतु किया आस्वस्त
राज्य परियोजना समग्र शिक्षा के प्रबंध संचालक वरिष्ठ आईएएस नरेंद्र दूंगा द्वारा तत्काल जिन जिलों में संकुल एवं स्कूल ग्रांट की राशि जारी नहीं किया गया था उन जिले के डीएमसी से फोन मे बात कर अविलम्ब लिमिट जारी करने निर्देश प्रदान किया गया। राज्य परियोजना समग्र शिक्षा द्वारा संकुलों में मीटिंग टी ए मद 10,000/ रु.का उपयोग केवल सीएसी की यात्रा देयक मे ब्यय से सम्बंधित तथा सी ए सी की निजी फोन के सरकारी करण को गंभीरता से लेते हुए प्रत्येक सी ए सी को लेपटॉप प्रदान करने की पहल, संकुल शैक्षिक समन्वयकों को बिना कोई ठोस कारण के न हटाए जाने एवं यदि हटाना आवश्यक हो तो जिले के कलेक्टर के अनुमोदन से ही हटाने संबंधी कार्यवाही की जाए इस पर निर्देश जारी करने अधिकारियों को हिदायत दी गई।
प्रांतीय प्रतिनिधि मंडल द्वारा वरिष्ठ संकुल शैक्षिक समन्वयकों कि 10 वर्ष का अनुभव पूर्ण करने पश्चात विकासखंड स्तर पर बीआरसीसी एवं मंडल संयोजक तथा ए बीओ के रिक्त पदों पर जिला स्तर पर पदोन्नति या प्रतिनियुक्ति की मांग पर प्रबंध संचालक द्वारा शासन स्तर पर प्रस्ताव प्रेषित करने तथा प्रतिनिधिमंडल द्वारा रखी गई सभी मांगों पर समाधान करने प्रांतीय सीएसी प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया गया।

प्रांतीय सीएसपी प्रतिनिधिमंडल में सर्वश्री पूर्णा नंद मिश्रा प्रदेश अध्यक्ष, ओम प्रकाश बघेल जिला अध्यक्ष कोरबा, जयंत सिंह क्षत्रिय जिला अध्यक्ष जांजगीर चांपा, मोहन लहरी जिलाध्यक्ष मुंगेली, महेश यादव जिला अध्यक्ष जयपुर, सतीश पटेल कार्यकारी जिलाध्यक्ष महासमुंद, कमलेश साहू जिला अध्यक्ष बेमेतरा, डी डी बारके प्रांतीय महासचिव, अनिल ढिंही प्रांतीय पदाधिकारी एवं अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।