बलरामपुर जिला के डीएफओ पर वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने अभ्रद व्यवहार का लगाया आरोप……

वर्तमान भारत
इरफान सिद्धिकी उपसंपादक
अम्बिकापुर-जिला सरगुजा वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के डीएफओ लक्ष्मण सिंह पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है।डीएफओ के गैर जिम्मेदाराना बर्ताव को लेकर वन ठेकेदार संघ ने कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत से शिकायत करते हुए डीएफओ के ऊपर कार्यवाही व हटाने की मांग की है।मंत्री अमरजीत भगत ने संघ को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।संघ ने मंगलवार को उक्त मामले की मौखिक शिकायत सरगुजा सीसीएफ से की है,बुधवार को डीएफओ के उपर कार्रवाई करने हेतु सीसीएफ को ज्ञापन सौंपेंगे।

इस घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के मुताबिक बलरामपुर रामानुजगंज जिला के वन परिक्षेत्र वाड्रफनगर काष्ठागार में मंगलवार को सुबह 9:30 बजे से नीलामी थी।नीलामी में भाग लेने सरगुजा वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल सहित अन्य ठेकेदार पहुंचे हुए थे।वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने आरोप लगाते हए बताया कि नीलामी के दौरान सुबह 11 बजे डीएफओ अपने पद का गलत तरीके से दुरुपयोग करते हुए अपने चहेते ठेकेदार को लाभ पहुंचाने एकाएक संघ के अध्यक्ष के ऊपर भड़क गए। राजीव अग्रवाल का आरोप है।कि दुर्व्यवहार करते हुए डीएफओ ने उन्हें कहा कि राजनीतिक दबाव बना रहे हैं।और आप अपने ठेकेदारों को लाभ पहुंचाना चाहते हैं। डीएफओ के इस व्यवहार से अध्यक्ष सहित संघ के लोगों में काफी नाराजगी है।

वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने आरोप लगाते हुए बताया कि डीएफओ गलत तरीके से अपने चहेते ठेकेदारों को लाभ पहुंचाना चाहते थे उनके द्वारा विरोध किया गया तो उल्टा उन्हीं से दुर्व्यवहार करते हुए उन्हीं के ऊपर आरोप लगाने लगे। इस घटना को लेकर संघ में काफी आक्रोश है,संघ डीएफओ के ऊपर तत्काल कार्रवाई की मांग की है।वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने डीएफओ के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि डीएफओ पहले भी संघ के पदाधिकारियों तथा अन्य सम्मानित लोगों के साथ इस प्रकार का व्यवहार कर चुके हैं।एक वरिष्ठ अधिकारी के द्वारा ऐसा व्यवहार दुर्भाग्य जनक है।राजीव अग्रवाल द्वारा यह भी आरोप लगाया गया है कि डीएफओ लक्ष्मण सिंह के कार्यकाल में जिला बलरामपुर वनमण्डल में अब तक जितनी भी खरीदी हुई है। उसमें भारी अनियमितताये सामने आई है।जितनी भी खरीदी हुई है।उसकी जांच होनी चाहिए ताकी सच्चाई लोगों के सामने आए।राजीव अग्रवाल ने कहा कि डीएफओ लक्ष्मण सिंह हमेशा से अपने कार्यशैली की वजह से चर्चित रहे हैं ।राज्य सरकार ने उन्हें सेवानिवृत्त कर दिया था, लेकिन हाईकोर्ट से स्टे लेने के बाद वह डीएफओ के पद पर फिर से बने है।और वह पहले की तरह ही अब फिर से अपने कारनामों के कारण चर्चित हो रहे हैं।

कार्रवाई नहीं हुई तो करेंगे नीलामी का बहिष्कार

सरगुजा वन ठेकेदार संघ के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने कहा कि डीएफओ लक्ष्मण सिंह के ऊपर अगर तत्काल कार्रवाई नहीं होता है। तो संघ वन विभाग द्वारा सभी काष्ठागार नीलामी का बहिष्कार करेगी। वन ठेकेदार संघ और डीएफओ बलरामपुर के बीच तनातनी से माहौल काफी गर्म हो चुका है।